भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआईटी), खड़गपुर के शोधार्थियों के एक दल ने सीमांत किसानों के छोटे खेतों के लिए सौर ऊर्जा से चलने वाला कीट नियंत्रण उपकरण विकसित किया है। टीम ने इस उपकरण का ‘पेटेंट’ हासिल करने के लिए एक आवेदन भी दिया है।

यह सेमी-कंडक्टर उपकरण कीटनाशकों के छिड़काव में एकरूपता रखता है। साथ ही, इससे फसल पर रसायनों के छिड़काव के दौरान उपकरण के संचालकों पर तथा बाद में जीवाश्म ईंधन पर निर्भर लोगों पर भी इसका कम दुष्प्रभाव पड़ता है।

आईआईटी खड़गपुर के प्राध्यापक हिफजुर रहमान ने कहा, ‘‘उपकरण में स्प्रे इकाई को संचालित करने के लिए सौर ऊर्जा का भंडारण करने वाली बैटरी लगी हुई है। उपकरण में घुले हुए कीटनाशक के लिए एक बड़ी टंकी लगी हुई है तथा सौर ऊर्जा चालित यह उपकरण तीन पहिया ट्रॉली पर आधारित है। ’’