नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘‘विश्व शेर दिवस’’ पर इस वन्यजीव के संरक्षण में जुटे लोगों को बधाई दी और कहा कि देश को यह जानकर खुशी होगी कि पिछले कुछ साल में भारत में शेरों की आबादी में धीमे-धीमे वृद्धि आई है।

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘शेर राजसी और साहसी होते हैं। भारत को एशियाई शेरों का घर होने पर गर्व है। विश्व शेर दिवस पर मैं उन सभी को बधाई देता हूं जो इसके संरक्षण को लेकर गंभीर हैं। आपको यह जानकर खुशी होगी कि पिछले कुछ सालों में भारत में शेरों की आबादी में धीमे-धीमे वृद्धि देखी गई है।’’

विश्व शेर दिवस हर साल 10 अगस्त को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य शेरों के शिकार को रोकने और उसके संरक्षण के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्हें गिर के शेरों के लिए सुरक्षित ठिकाना सुनिश्चित करने के काम का मौका मिला था।

उन्होंने कहा, ‘‘शेरों का सुरक्षित ठिकाना सुनिश्चित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इस अभियान में स्थानीय लोगों को शामिल करने और विश्व के सर्वश्रेष्ठ प्रचलनों को अपनाने सहित कई कदम उठाए गए थे।’’

आपको बता दें कि विश्व शेर दिवस को मनाने की शुरुआत साल 2013 में की गई, ताकि शेरों की दुर्दशा और इन मुद्दों के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सके और जो लोग जंगली शेरों के पास रहते हैं, उन्हें शिक्षित किया जा सके। साल 2013 से लेकर अब तक हर साल इस दिन को 10 अगस्त के दिन मनाया जाता है।