अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने नस्ली घृणा से प्रेरित अपराध, आव्रजन और कोविड-19 टीकाकरण समेत विभिन्न मुद्दों पर धार्मिक नेताओं के साथ चर्चा की। हैरिस ने कहा कि धार्मिक नेता मुश्किल वक्त में शक्ति, सहयोग और परामर्श का स्रोत हैं। हैरिस ने बुधवार को अपने संबोधन में कहा, ‘‘आपने उन परिवारों के साथ वर्चुअल या व्यक्तिगत तौर पर प्रार्थना की जिन्होंने जबरदस्त नुकसान झेला है।’’

इस बैठक में पांच धार्मिक नेता व्यक्तिगत तौर पर शामिल हुए जबकि पांच अन्य वर्चुअल तरीके से शामिल हुए। इनमें से कोई भी अल्पसंख्यक धर्म का नेता नहीं था।

उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हमारे धार्मिक नेता होने के नाते आप बेघरों को आश्रय दे रहे हैं। आप भूखों को भोजन करा रहे हैं। खासतौर से पिछले साल आपने न केवल वित्तीय और भौतिक बल्कि आध्यात्मिक मदद भी दी है। अब भी आप अडिग हैं।’’

उन्होंने धार्मिक नेताओं से लोगों को कोविड-19 रोधी टीका लगाने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया। नस्ली घृणा से प्रेरित अपराध के बारे में बात करते हुए हैरिस ने कहा, ‘‘मुझे पता है कि आप कई तरीकों से इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि ज्यादातर लोग अपने गृह नगर में रहना चाहते हैं। वे वहां रहना चाहते हैं जहां वे पले बढ़े। वे ऐसी जगह रहना चाहते हैं जहां की संस्कृति वे समझते हों।’’