संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने गबोन से संगठन के शांति रक्षकों के पूरे दल को तत्काल घर भेजने का आदेश दिया है। उन्होंने मध्य अफ्रीकी गणराज्य में उसके करीब 450 सदस्यों द्वारा यौन शोषण किए जाने की विश्वस्त खबरों और पूर्व में लगाए गए आरोपों के कारण यह फैसला लिया है।

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने यह फैसला लिया क्योंकि ‘‘हमें लगता है कि मध्य अफ्रीकी गणराज्य में आरोपों और यौन शोषण के इतिहास से प्रभावी तरीके से निपटने में हम नाकाम रहे, जिसमें समय रहते और प्रभावी ढंग से जांच करना भी शामिल है।’’

उन्होंने बताया कि गबोन के सैन्य कर्मियों के खिलाफ दुराचार के आरोप 2015 के हैं। नयी रिपोर्टों के साथ संयुक्त राष्ट्र को यौन शोषण के कुल 32 आरोपों की जानकारी मिली है।

दुजारिक ने बताया कि सभी आरोपों में मध्य अफ्रीकी देश में शांति रक्षा मिशन में तैनात सेना के सदस्य शामिल हैं।

संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षकों खासतौर से मध्य अफ्रीकी गणराज्य और कांगो में तैनात कर्मियों पर बच्चों के बलात्कार और अन्य यौन शोषण के आरोप लंबे समय से लगते रहे हैं।