म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका, चीन और कुछ अन्य देशों की महिलाओं को न्याय, लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण की दिशा में अभूतपूर्व साहस और नेतृत्व क्षमता प्रदर्शित करने के लिए पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

वार्षिक अंतरराष्ट्रीय साहसी महिला (आईडब्ल्यूओसी) पुरस्कार दुनिया भर में महिलाओं के योगदान को चिन्हित करता है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को बताया कि अगले सप्ताह डिजिटल तरीके से आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार दिए जाएंगे।

अमेरिका की प्रथम महिला जिल बाइडन इस अवसर पर महिलाओं को विशेष संदेश देंगी और विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन यह पुरस्कार प्रदान करेंगे। मंत्रालय ने बताया कि शांति, न्याय, मानवाधिकार, लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण की हिमायत करने में अद्भुत साहस और नेतृत्व क्षमता प्रदर्शित करने वाली महिलाओं को यह पुरस्कार दिया जाता है।

पुरस्कार प्राप्त करने वालों में म्यांमा की नेता फोई फोई उंग, मानवाधिकार कार्यकर्ता वांग यू, नेपाल की मुस्कान खातून, श्रीलंका की वकील रनिता गननराजा शामिल हैं। अन्य देशों की महिलाओं को भी आठ मार्च को पुरस्कार दिए जाएंगे। ब्लिंकन सात अफगान महिलाओं के एक समूह को भी आईडब्ल्यूओसी का मानद पुरस्कार देंगे। अफगानिस्तान की इन महिलाओं की 2020 में हत्या कर दी गयी थी।