दिल्ली सरकार ने अपने और एमसीडी के 550 से ज्यादा स्कूलों को निर्देश दिया है कि वे अपने यहां महिला शौचालयों के पास सेनिटरी नैपकीन इंसीनेरेटर लगवाएं।

अधिकारियों के अनुसार, शिक्षा मंत्रालय के परियोजना मंजूरी बोर्ड ने दिल्ली सरकार और एमसीडी के 553 स्कूलों के 3,204 शौचालय ब्लॉकों में सेनिटरी नैपकीन इंसीनेरेटर लगवाने के लिए उनकी खरीद और इंस्टॉलेशन को मंजूरी दे दी है।

शिक्षा निदेशालय ने स्कूलों को भेजी एक चिट्ठी में कहा है, ‘‘स्कूल के प्रधान अध्यापक आधिकारिक प्रतिनिधि के साथ सलाह करके शौचालय ब्लॉक में सेनिटरी नैपकीन इंसीनेरेटर लगवाने के लिए स्थान चिह्नित करें। प्रधान अध्यापक मशीन लगने की जगह पर बिजली आपूर्ति सहित वहां बिजली का प्लग आदि होने की समुचित व्यवस्था करें।

बिजली की व्यवस्था पर आने वाला खर्च संबंधित प्रधान अध्यापक विद्यालय कल्याण समिति के कोष या अन्य सहायता राशि से करेंगे।’’ सरकार ने स्कूलों से कहा है कि वे विज्ञान प्रयोगशाला की महिला कर्मचारी या विज्ञान की शिक्षिका को सेनिटरी नैपकीन इंसीनेरेटर का प्रभारी बनाएं।