दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को अपनी तरह का पहला ‘वर्चुअल शिक्षण मॉडल’ शुरू करने की सरकार की योजना की घोषणा की। यह पहल कोविड-19 महामारी के आलोक में पिछले साल भर से चल रहे ऑनलाइन शिक्षण का परिणाम है। साल का बजट पेश करने वाले सिसोदिया ने कहा कि इस ‘अनोखे प्रयोग’ से शिक्षा देश या दुनिया के किसी भी हिस्से में विद्यार्थियों के लिए सुगम होगी।

उन्होंने कहा, ‘‘ दिल्ली सरकार ने दिल्ली में विद्यालयों की नयी श्रेणी ‘वर्चुअल दिल्ली मॉडल स्कूल’ शुरू करने का फैसला किया है, यानी एक ऐसा विद्यालय जहां चारदीवारी या भवन नहीं होगा लेकिन बच्चे, अध्यापक, शिक्षण, परीक्षा, मूल्यांकन और अध्ययन -अध्यापन पूरा किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ यह अपने आप में एक अनोखा प्रयोग है और संभवत: दुनिया में पहला वर्चुअल विद्यालय। इस विद्यालय के डिजायन पर काम शुरू हो चुका है और यह सुनिश्चित करना मेरा प्रयास होगा कि विद्यालय अगले सत्र में तैयार हो जाएं और उसका कामकाज शुरू हो जाए।’’ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे ‘स्वप्निल परियोजना’ करार दिया।